Stock Picking Guide for Beginners! in Hindi 2021

A beginner’s guide on How to Select Shares to Buy in India in Hindi- क्या आप भी शेयर मार्केट मे पैसा लगाना चाहते है और यह जानना चाहते है की कोनसा स्टॉक चुने कोनसा नहीं तो मे आज आपको कुछ इस तरहा की चीजों के बारे मे बताने वाला हु जिन से आप अपना स्टॉक खुद चुन सकते है।

आपने सुना ही होगा स्टॉक मार्केट काफी रिसकी है पैसा डूब जाता है इसमे और एसा कई लोग कहते भी है। तो हम आपको बता दे एसा इसलिए होता है क्योंकी बह लोग बिना सोचे समझे किसी भी स्टॉक मे पैसा लगा देते है। और उनका पैसा डूब जाता है। एसे लोग अपना पैसा लगाने से पहले किसी भी तरहा की कोई रिसर्च नहीं करते कोनसा स्टॉक सही है कोनसा नहीं।

How to Select Shares to Buy in India? in Hindi

1.क्या कंपनी के पास अच्छे फंडामेंटल हैं?

आपको सबसे पहले किसी भी कंपनी के शेयर मे इन्वेस्ट करने से पहले यह जानना है की इस कंपनी के फंडामेंटल कैसे है। आपको उस कंपनी के बारे मे पता लगाने मे मुस्किल से 5 से 10 मिनट का समय। यदि कंपनी मौलिक रूप से मजबूत नहीं है, तो उसके उत्पादों/सेवाओं, प्रतियोगियों, भविष्य की संभावनाओं आदि के बारे में अधिक जानने की कोई आवश्यकता नहीं है।

अगर आप यह देखते है कंपनी ने अगला-पिछला प्रदर्शन कैसा दिया है। अगर कंपनी ने अगला-पिछला प्रदर्शन अच्छा किया है तो बह निवेश करने लायक है।

कोई भी स्टॉक चुनने से पहले इन 8 चीजों का ध्यान रखे

  1. Earnings Per Share (EPS) – पिछले 5 वर्षों की बढ़त
  2. Price to Earnings Ratio (PE) – प्रतियोगियों और उद्योग औसत की तुलना
  3. Price to Book Ratio (PBV)  – प्रतियोगियों और उद्योग औसत की तुलना में कम
  4. Debt to Equity Ratio – 1 से कम होना चाहिए (अधिमानतः ऋण<0.5 या शून्य)
  5. Return on Equity (ROE) – 15% से अधिक होना चाहिए (पिछले 3 वर्ष औसत)
  6. Price to Sales Ratio (P/S) -छोटे मूल्य को प्राथमिकता दी जाती हैवर्तमान अनुपात
  7. Current Ratio – 1 से अधिक होना चाहिए
  8. Dividend – पिछले 5 वर्षों से बढ़ रहा हो  

2.क्या आप कंपनी द्वारा प्रदान किए जाने वाले उत्पादों/सेवाओं को समझते हैं?

कंपनी के फंडामेंटल जानने के बाद आपको उस कंपनी के बिजनस के बारे मे जानना है। बह कंपनी क्या करती है और क्या प्रोडक्ट बनाती और उस कंपनी की मार्केट मे क्या वैल्यू है।

कंपनी के बिजनस के बारे मे जानना इसलिए जरूरी है। क्या जो चीज कंपनी लोगों को प्रवाइड कर रही है उन चीजों मे लोगों का क्या इन्टरेस्ट है क्या सिर्फ यह कंपनी इस तरहा का प्रोडक्ट लोगों को दे रही है यह कोई और कंपनी भी यही प्रोडक्ट सेल करती है। तो आपको यह जानना है किस कंपनी के प्रोडक्ट मे दम है और कॉनसी कंपनी अपनी मार्केटिंग ठीक से करती है।

आपको हम कुछ कंपनी के उद्धरण देते है जैसे – toothpaste, soaps, towels, t-shirts, jeans, shoes to bikes, cars, airlines, banks; आपको पता है यह कंपनी कोनसा प्रोडक्ट सेल करती है और क्या करती है। हमको उन कंपनी के स्टॉक्स मे इन्वेस्ट करना है जिन कंपनी के प्रोडक्ट को हम डेली लाइफ मे यूज करते है।

3.क्या लोग अभी भी अब से 15-20 वर्षों में इस उत्पाद/सेवा का उपयोग करेंगे?

अगर आप ने यह जान लिया कंपनी के फंडामेंटल क्या है और बह क्या सेल करती है या फिर क्या प्रोडक्ट बनाती है तो उसके बाद आपको यह जानना है क्या उस कंपनी का प्रोडक्ट आने वाले 15 से 20 सालों मे भी चलेगा या फिर नहीं। एसा इसलिए क्युकी आप जिस कंपनी के शेयर मे पैसा लगाए और उस कंपनी का प्रोडक्ट 6 महीन से 1 साल तक सही चले लेकिन उसके बाद बह खतम हो जाए।

मतलब यह की उस कंपनी के प्रोडक्ट बिकना बंद हो जाए तो अगर आपने इसी कंपनी मे पैसा लगाया है तो आपको लॉस ही होगा क्युकी बह कंपनी उन प्रोडक्ट को बना रही है जिन प्रोडक्ट की जरूरत आने वाले समय मे नहीं होने वाली इसलिए इस तरहा की कंपनी मे पैसा इन्वेस्ट ना करे तो ही अच्छा है।

4.the Company’s Management Efficient and Qualified?

यह सब जानने के बाद आपको यह पता लगाना है की उस कंपनी का Management कैसा है क्या उस कंपनी मे Qualified लोग है। आपको यह जानना है CEO- कैसा है। CFO, MD,CIO इन लोगों की qualifications और पिछला अनुभब क्या है

1.रणनीति और लक्ष्य

आपको यह जानना है की उस कंपनी का Vision, Mission, और Value क्या है आने वाले समय मे उस कंपनी के गोल्स क्या है बह अपने आप को आगे ले जाने के लिए क्या कर सकती है और उसकी  strategy क्या है और बह किस रास्ते पर चल रही है

2.प्रबंधन के कार्यकाल की लंबाई

यह चीज किसी भी कंपनी के आगे बढ़ने मे काफी मदद करती है। की उस कंपनी का Management उनके साथ कितने समय से है और उस ने कैसा काम किया है। अगर किसी भी कंपनी का Management अच्छा होगा तो बह कंपनी मार्केट मे अच्छा perform करेगी।

अगर उस कंपनी का Management 1 साल बाद बदल दिया जाता है। तो पहले Management और नये Management मे काफी अंतर देखने को मिलेगा और बह कंपनी थोड़ा अच्छा perform नहीं करेगी कुछ महीनों के लिए। जब तक उस कंपनी का Management ठीक से काम नहीं करता। आपको बता दे एक अच्छा Management कंपनी को Grow करने मे काफी मदद करता है।

 Financial ratios ROE and ROCE

ROE—the percentage expression of a company’s net income as it is returned as a value to shareholders

ROCE—is the primary measure of how efficiently a company utilizes all available capital to generate additional profits.

5.पिछले परिणाम भविष्य के प्रदर्शन की गारंटी नहीं देते हैं

आपको यह भी बता दे की पिछले परिणाम भविष्य के प्रदर्शन की गारंटी नहीं देते हैं। क्योंकी यह किसी को नहीं पता होता की कंपनी की हालत आगे जा कर क्या होंगे क्या नहीं। बह कंपनी किसी कारण से बंद भी हो सकती है जो पिछले सालों से अच्छी भली चल रही थी क्योंकी समय से आगे कोई भी नहीं चल सकता इसलिए अपने पैसों को ठीक से इन्वेस्ट करे और सुरुबाट हमेशा काम से करे यह ही बेहतर होगा।

हमने आज आपको इस पोस्ट मे यह बताया है की सही कंपनी के शेयर कैसे चुने उस कंपनी के बारे मे क्या-क्या जाने अगर आपको कोई भी समस्या है। तो आप कमेन्ट बॉक्स मे पूछ सकते है।

Leave a Comment